खड़े होकर नामांकन पत्र प्राप्त करने का क्या मतलब है: सौमित्रा खान

Abhishek Banerjee nomination

Abhishek Banerjee nomination: शुक्रवार को पश्चिम बंगाल के डायमंड हार्बर सीट से ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी ने नामांकन दाखिल किया। 36 साल के अभिषेक पहली बार 2014 में इसी सीट से जीतकर संंसद पहुंचे थे। साल 2019 की मोदी लहर में भी वो दोबारा सांसद चुनकर आए और अब तीसरी बार चुनाव लड़ने के लिए उन्होंने तृणमूल कांग्रेस से अपना नामांकन दाखिल कर लिया है।

वही शुक्रवार को नामांकन दाखिल करने के बाद अभिषेक सवालों के घेरे में आ गए हैं, दरअसल नामांकन करने के दौरान डीएम ने नॉमिनेशन के पेपर्स खड़े होकर लिए, जिसके बाद उनकी यह तस्वीर सोशल मीडिया पर जंगल में लगे भीषण आग की तरह फैल गई। वही भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष सौमित्रा खान ने उनकी तस्वीर सोशल मीडिया प्लेटफार्म एक्स पर शेयर की और लिखा “क्या टीएमसी सरकार के युवराज के डर ने डीएम साहब को कुर्सी छोड़ने पर मजबूर कर दिया?”

“खड़े होकर नामांकन पत्र प्राप्त करने का क्या मतलब है? क्या अभिषेक बनर्जी संविधान से बड़े हैं?”

इसके बाद सोशल मीडिया पर यूजर्स अभिषेक बनर्जी और डीएम साहब को लेकर तरह तरह की प्रतिक्रिया दे रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *